Loading...
Sad

Latest Collection of Intezaar Shayari for Boyfriend and Girlfriend

Spread the love
  • 11
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Humne Ye Shaam Chirago Se Saja Rakhi Hai,
Aapke Intezar Me Palke Bichha Rakhi Hain,
Hawa Takra Rahi Hai Shama Se Baar Baar,
Aur Humne Shart In Hawaon Se Laga Rakhi Hai.

हमने ये शाम चिरागों से सजा रखी है,
आपके इंतजार में पलके बिछा रखी हैं,
हवा टकरा रही है शमा से बार-बार,
और हमने शर्त इन हवाओं से लगा रखी है।

***********

Wo Rukhsat Hui To Aankh Mila Kar Gayi,
Wo Kyun Gai Yeh Bata Kar Nahin Gayi,
Lagta Hai Bapis Abhi Laut Aayegi,
Wo Jaate Hue Chirag Bujha Kar Nahin Gayi,

वो रुख्सत हुई तो आँख मिलाकर नहीं गई,
वो क्यों गई यह बताकर नहीं गई,
लगता है वापिस अभी लौट आएगी,
वो जाते हुए चिराग़ बुझाकर नहीं गई।

***********

Tere Intezar Me Yeh Najren Jhuki Hain,
Tera Didaar Karne Ki Chaah Jagi Hai,
Na Jaanu Tera Naam, Na Tera Pata,
Fir Bhi Na Jaane Kyun Is Pagal Dil Me,

तेरे इंतज़ार में यह नज़रें झुकी हैं,
तेरा दीदार करने की चाह जगी है,
न जानूँ तेरा नाम, न तेरा पता,
फिर भी न जाने क्यों इस पागल दिल में,
एक अज़ब सी बेचैनी जगी है।

***********

Tadap Kar Dekho Kisi Ki Chahat Me,
Pata Chalega Intezar Kya Hota Hai,
Yun Hi Mil Jata Bina Koi Tadpe To,
Kaise Pata Chalta Ki Pyar Kya Hota Hai.

तड़प कर देखो किसी की चाहत में,
पता चलेगा इंतज़ार क्या होता है,
यूँ ही मिल जाता बिना कोई तड़पे तो,
कैसे पता चलता कि प्यार क्या होता है।

***********

Din Bhar Bhatakte Rahte Hain Armaan Tujhse Milne Ke,
Na Yeh Dil Thehrta Hai Na Tera Intezaar Rukta Hai.
दिन भर भटकते रहते हैं अरमान तुझसे मिलने के,
न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है।

***********

Tadapti Hai Aaj Bhi Rooh Aadhi Raat Ko,
Nikal Padte Hain Aankh Se Aansu Aadhi Raat Ko,
Intezar Me Tere Barsho Beet Gaye Sanam Mere,
Dil Ko Hai Aas Ayegi Tu Aadhi Raat Ko.

तड़पती है आज भी रूह आधी रात को,
निकल पड़ते हैं आँख से आँसू आधी रात को,
इंतज़ार में तेरे वर्षों बीत गए सनम मेरे,
दिल को है आस आएगी तू आधी रात को।

***********

Intezar Shayari – Dil Ki Betabi
Bhale Hi Raah Chalton Ka Daman Tham Le,
Magar Mere Pyar Ko Bhi Tu Pahchaan Le,
Kitna Intezar Kiya Hai Tere Intezar Me,
Jara Yeh Dil Ki Betabi Tu Bhi Jaan Le,

भले ही राह चलतों का दामन थाम ले,
मगर मेरे प्यार को भी तू पहचान ले,
कितना इंतज़ार किया है तेरे इश्क़ में,
ज़रा यह दिल की बेताबी तू भी जान ले

***********

Khud Ek Baar Use Ehsaas Dila De,
Kitna Intezar Hai Jara Use Bata De,
Har Pal Dekhte Hain Rasta Usi Ka,
Na Intezar Karna Pade, Mujhe Aisi Neend Sula De.

खुद एक बार उसे यह एहसास दिला दे,
कितना इंतज़ार है ज़रा उसे बता दे,
हर पल देखते हैं रास्ता उसी का,
ना इंतज़ार करना पड़े, मुझे ऐसी नींद सुला दे।

***********

Kin Lafzo Mein Likhu Main Apne Intezaar Ko Tumhein,
Bejubaan Hai Ishq Mera Dhhoondta Hai Khamoshi Se Tujhe.
किन लफ्जों में लिखूँ मैं अपने इंतज़ार को तुम्हें,
बेजुबां है इश्क़ मेरा ढूंढ़ता है खामोशी से तुझे।

***********

Mohabbat Ka Imtihaan Aasan Nahin,
Pyar Sirf Paane Ka Naam Nahin,
Muddten Beet Jaati Hain Kisi Ke Intezar Me,
Yeh Sirf Pal Do Pal Ka Kaam Nahin.

मोहब्बत का इम्तिहान आसान नहीं,
प्यार सिर्फ पाने का नाम नहीं,
मुद्दतें बीत जाती है किसी के इंतज़ार में,
यह सिर्फ पल दो पल का काम नहीं।

***********

Fasla Mita Kar Aapas Me Pyar Rakhna,
Hamara Yeh Rishta Humesa Barkraar Rakhna,
Bichhad Jaaye Kabhi Aap Se Hum,
Aankhon Me Humesa Mera Intezar Rakhna.

फासला मिटा कर आपस में प्यार रखना,
हमारा यह रिश्ता हमेशा बरकरार रखना,
बिछड़ जाएं कभी आप से हम,
आँखों में हमेशा मेरा इंतज़ार रखना।

***********

Uss Najar Ko Mat Dekho,
Jo Aapko Dekhne Se Inkar Karti Hain,
Duniya Ki Bheed Me Us Najar Ko Dekho,
Jo Sirf Aapka Intezar Karti Hain.

उस नज़र को मत देखो,
जो आपको देखने से इनकार करती है,
दुनियां की भीड़ में उस नज़र को देखो,
जो सिर्फ आपका इंतजार करती है

***********

Din Raat Ki Bechaini Hai, Yeh Aathh Pehar Ka Rona Hai,
Aasaar Bure Hain Furkat Mein, Maloon Nahi Kya Hona Hai.
दिन रात की बेचैनी है, ये आठ पहर का रोना है,
आसार बुरे हैं फुरकत में, मालूम नहीं क्या होना है।

***********

Uthha Kar Choom Li Hain Chand Murjhayi Huyi Kaliyan,
Tum Na Aaye Toh Yoon Jashn-e-Bahaaran Kar Liya Maine.
उठा कर चूम ली हैं चंद मुरझाई हुई कलियाँ,
तुम न आये तो यूँ जश्न-ए-बहारां कर लिया मैंने।

***********

Intezar-e-Fasl-e-Gul Mein Kho Chuke Aankhon Ka Noor,
Aur Bahaar-e-Baag Leti Hi Nahi Aane Ka Naam.
इंतज़ारे-फस्ले-गुल में खो चुके आँखों के नूर,
और बहारे-बाग लेती ही नहीं आने का नाम।

***********

Khud Hairan Hoon Main Apne Sabr Ka Paimana Dekh Kar,
Tu Ne Yaad Bhi Na Kiya Aur Maine Intezar Nahi Chhoda.
खुद हैरान हूँ मैं अपने सब्र का पैमाना देख कर,
तूने याद भी ना किया और मैंने इंतज़ार नहीं छोड़ा।

***********

Tum Laut Ke Aaoge
Tum Laut Ke Aaoge Hum Se Milne,
Roj Dil Ko Bahlane Ki Adat Ho Gayi,
Tere Vaade Per Kya Bharosa Kiya,
Har Sham Tera Intezar Karne Ki Aadat Ho Gayi.

तुम लौट के आओगे हम से मिलने,
रोज दिल को बहलाने की आदत हो गयी,
तेरे वादे पर क्या भरोसा किया,
हर शाम तेरा इंतज़ार करने की आदत हो गयी

***********

Jis Ke Ikraar Ka Intezar Tha Mujhe,
Jaane Kyu Us Se Itna Pyar Tha Mujhe,
Ai Khuda Aa Hi Gaya Wo Hasin Pal,
Jab Usne Kaha Tumse Bahut Pyar Hai Mujhe.

जिस के इक़रार का इंतज़ार था मुझे,
जाने क्यों उस से इतना प्यार था मुझे,
ऐ ख़ुदा आ ही गया वो हसीं पल,
जब उसने कहा तुमसे बहुत प्यार है मुझे।

***********

Tere Intezar Me Chhoda Duniya Ka Saath,
Tere Intezar Me Chhoda Duniya Ka Saath,
Jab Tujhe Jana Hi Tha To Kyu Diya Duniya Ka Saath,
Rah Gaya Ab Main Apne Gamo Ke Saath.

तेरे इंतज़ार में छोड़ा दुनिया का साथ,
तेरे इंतज़ार में छोड़ा अपनों का साथ,
जब तुझे जाना ही था तो क्यों दिया वादों का साथ,
रह गया अब मैं बस अपने ग़मों के साथ।

***********

Tera Intezar Karti Hun
Tujhe Dekhna Chahti Hun Har Pal,
Shayd Tujhse Bahut Pyar Karti Hun,
Kal Tak To Tujhe Janti Bhi Na Thi,
Aaj Tera Intezar Karti Hun.

तुझे देखना चाहती हूँ हर पल,
शायद तुझसे बहुत प्यार करती हूँ,
कल तक तो तुझे जानती भी न थी,
आज तेरा इंतज़ार करती हूँ।

***********

Teri Mohabbat Se
Najaro Ko Teri Mohabbat Se Inkaar Nahin Hai,
Ab Mujhe Kisi Ka Intezar Nahin Hai,
Khamosh Agar Hun Ye Andaz Hai Mera,
Magar Tum Ye Na Samajhna Ki Mujhe Pyar Nahin Hai.

नज़रों को तेरी मोहब्बत से इंकार नहीं है,
अब मुझे किसी का इंतजार नहीं है,
खामोश अगर हूँ ये अंदाज है मेरा,
मगर तुम ये न समझना कि मुझे प्यार नहीं है।

***********

Woh Na Aayega Humein Malum Tha Iss Shaam Bhi,
Intzaar Uska Magar Kuchh Soch Kar Karte Rahe.
वो न आएगा हमें मालूम था इस शाम भी,
इंतज़ार उस का मगर कुछ सोच कर करते रहे।

***********

Aankho Ne Jarre-Jarre Par Sajde Lutaye Hain,
Kya Jaane Ja Chhupa Hai Mera PardaNashin Kahan.
आँखों ने जर्रे-जर्रे पर सजदे लुटाये हैं,
क्या जाने जा छुपा मेरा पर्दानशीं कहाँ।

***********

Raqs-e-Sabaa Ke Jashn Mein Hum Tum Bhi Nachte,
Ai Kaash Tum Bhi Aa Gaye Hote Sabaa Ke Saath.
रक़्स-ए-सबा के जश्न में हम तुम भी नाचते,
ऐ काश तुम भी आ गए होते सबा के साथ।

***********

Na Jane Kab Ka Pahunch Bhi Chuka Sar-e-Manzil,
Woh Shakhs Jis Ka Humein Intazar Raah Mein Hai.
न जाने कब का पहुँच भी चुका सर-ए-मंजिल,
वो शख्स जिस का हमें इंतज़ार राह में है।

***********

Ulfat Ke Maaron Se Na Puchho Aalam Intezar Ka,
Patjhad Si Hai Zindagi Aur Khyal Hai Bahaar Ka.
उल्फ़त के मारों से ना पूछो आलम इंतज़ार का,
पतझड़ सी है ज़िन्दगी और ख्याल है बहार का।

***********

Jaan Se Bhi Jaya Unhe Pyar Kiya Karte The,
Yaad Unhe Din Raat Kiya Karte The,
Ab Un Raaho Se Gujra Nahin Jata,
Jahan Baith Kar Unka Intezar Kiya Karte.

जान से भी ज्यादा उन्हें प्यार किया करते थे,
याद उन्हे दिन रात किया करते थे,
अब उन राहों से गुजरा नही जाता,
जहाँ बैठ कर उनका इंतज़ार किया करते थे।

***********

Koi Kyun Mera Inezar Karega
Koi Kyun Mera Inezar Karega,
Apni Zindagi Mere Liye Bekar Karega,
Hum Kaun Se, Kisi Ke Liye Khas Hain,
Kya Sochkar Koi Hume Yaad Karega.

कोई क्यों मेरा इंतज़ार करेगा,
अपनी जिंदगी मेरे लिए बेकार करेगा,
हम कौन से, किसी के लिए ख़ास हैं,
क्या सोचकर कोई हमें याद करेगा।

***********

Chanad Sitaro Se Teri Baat Karte Hain,
Tanhaiyon Me Tujhe Yaad Karte Hain,
Tum Aao Ya Na Aao Marji Tumhari,
Hum To Harpal Tumhara Intezar Karte Hain.

चाँद सितारों से तेरी बात करते हैं,
तनहाईयों में तुझे याद करते हैं,
तुम आओ या ना आओ मर्ज़ी तुम्हारी,
हम तो हरपल तुम्हारा इंतजार करते हैं।

***********

Aankhon Me Yaado Ki Nami Chhod Jayenge,
Dhudhte Firoge Hume Har Jagah Ek Din,
Zindagi Me Aisi Apni Kami Chhod Jayenge.

दिल में इंतज़ार की लकीर छोड़ जायेंगे,
आँखों में यादों की नमी छोड़ जायेंगे,
ढूंढ़ते फिरोगे हमें हर जगह एक दिन,
ज़िन्दगी में ऐसी अपनी कमी छोड़ जायेंगे।

***********

Intezar To Bahut Tha
Intezar To Bahut Tha Hume,
Lekin Aaye Na Wo Kabhi,
Hum To Bin Bulaye Hi Aa Jaate,
Agar Hota Unhe Bhi Intezar Kabhi.

इंतज़ार तो बहुत था हमें,
लेकिन आये ना वो कभी,
हम तो बिन बुलाये ही आ जाते,
अगर होता उन्हें भी इंतज़ार कभी।

***********

Ye Kah Kah Ke Hum Dil Ko Samjha Rahe Hain,
Wo Ab Chal Chuke, Wo Ab Aa Rahe Hain.

ये कह कह के हम दिल को समझा रहे है
कि वो अब चल चुके,वो अब आ रहे है।

***********

Tu Intezaar Na Kar
Nadan Inaki Baato Ka Aitabaar Na Kar,
Bhoolkar Bhi In Zaalimo Se Pyaar Na Kar,
Wo Qayaamat Tak Tere Paas Na Aayenge,
Inke Aane Ka Tu Intezar Na Kar.

नादान इनकी बातो का एतबार ना कर,
भूलकर भी इन जालिमो से प्यार ना कर,
वो क़यामत तक तेरे पास ना आयेंगे,
इनके आने का तू इन्तजार ना कर।

***********

Tere Bina Kaise Meri Guzrengi Ye Raatein,
Tanhai Ka Gam Kaise Sahengi Ye Raatein,
Bahut Lambi Hain Ye Ghadiyan Intezaar Ki,
Karwat Badal-Badal Kar Katengi Ye Raatein.

तेरे बिना कैसे मेरी गुजरेंगी ये रातें,
तन्हाई का गम कैसे सहेंगी ये रातें,
बहुत लम्बी है ये घड़ियाँ इंतज़ार की,
करबट बदल-बदल कर काटेंगी ये रातें।

***********

Mohabbat Intezar Ban Jati Hai
Khwabon Me Jeene Ki Adat Pad Jati Hai,
Hakikat Ki Duniya Tab Be-Rang Najar Aati Hai,
Koi Intezar Karta Hai Mohabbat Ka,
To Kisi Ki Mohabbat Intezar Ban Jati Hai.

ख़्वाबों में जीने की जब आदत पड़ जाती है,
हक़ीक़त की दुनिया तब बे-रंग नज़र आती है,
कोई इंतज़ार करता है मोहब्बत का,
तो किसी की मोहब्बत इंतज़ार बन जाती है।

***********

Ye Jo Palko Pe Hai Khumar Aapka,
Han Isi Ko Kahte Hain Intezar Yaar Ka.

ये जो पलकों पे है खुमार आप का,
हाँ इसी को कहते हैं इंतज़ार यार का।

***********

Unka Vada Hai Ki Laut Aayenge,
Isi Ummid Par Ham Jiye Jayenge,
Ye Intzaar Bhi Unhin Ki Tarah Pyara Hai,
Kar Rahe The Kar Rahe Hain Aur Kiye Jayenge.

उनका वादा है कि वो लौट आयेंगे,
इसी उम्मीद पर हम जिये जायेंगे,
ये इतंजार भी उन्ही की तरह प्यारा है,
कर रहे थे कर रहे हैं और किये जायेंगे।

***********

Wo Kah Kar Gaya Tha Main Lout Kar Aunga,
Main Intzaar Na Karta To Kya Karta,
Wo Jhoot Bhi Bol Raha Tha Bade Saleeke Se,
Main Aitbaar Na Karta To Kya Karta.

वो कह कर गया था मैं लौटकर आउंगा,
मैं इंतजार ना करता तो क्या करता,
वो झूठ भी बोल रहा था बड़े सलीके से,
मैं एतबार ना करता तो क्या करता।

***********

Intezar Rehta Hai Har Shaam Tera,
Yaadein Kat-ti Hain Le Le Kar Naam Tera,
Muddat Se Baithe Hain Ye Aas Paale,
Ke Kabhi To Aayega Koi Paigaam Tera.

इंतज़ार रहता है हर शाम तेरा,
यादें कटती हैं ले ले कर नाम तेरा,
मुद्दत से बैठे हैं ये आस पाले,
के कभी तो आएगा कोई पैगाम तेरा।

***********

Ek Ajnabi Se Mujhe Itna Pyar Kyu Hai,
Inkaar Karne Par Chahat Ka Ikraar Kyu Hai,
Use Pana Nahi Meri Takdeer Me Shayad,
Fir Har Mod Par Uska Intezar Kyon Hai.

एक अजनबी से मुझे इतना प्यार क्यों है,
इनकार करने पर चाहत का इकरार क्यों है,
उसे पाना नहीं मेरी तकदीर में शायद,
फिर हर मोड़ पर उसका इंतज़ार क्यों है।

***********

Ye Chaandni Raat Badi Der Ke Baad Aayi,
Ye Haseen Mulakat Badi Der Ke Baad Aayi,
Aaj Aaye Hain Wo Milne Ko Badi Der Ke Baad,
Aaj Ki Ye Raat Badi Der Ke Baad Aayi.

ये चाँदनी रात बड़ी देर के बाद आयी,
ये हसीन मुलाकात बड़ी देर के बाद आयी,
आज आये हैं वो मिलने को बड़ी देर के बाद,
आज की ये रात बड़ी देर के बाद आयी।

***********

Tamaam Umr Yun Hi Ho Gayi Basar Apni,
Shabe-Firak Gayi, Roje-Intezar Aaya.

तमाम उम्र यूँ ही हो गयी बसर अपनी,
शबे-फ़िराक गयी, रोजे-इंतज़ार में।

***********

Kishton Me Khudkushi Kar Rahi Hai Ye Zindagi,
Intezar Tera Mujhe Pura Marne Bhi Nahi Deta.

किश्तों में खुदखुशी कर रही है ज़िन्दगी,
इंतज़ार तेरा मुझे पूरा मरने भी नहीं देता।

***********
Kisi Roz Hogi Roshan,
Meri Bhi Zindagi,
Intezar Subah Ka Nahi,
Tere Laut Aane Ka Hai.

किसी रोज़ होगी रोशन
मेरी भी ज़िन्दगी,
इंतज़ार सुबह का नहीं

***********

Meri To Ik Umr Kat Gayi
Tere Intezar Me,
Aise Bhi Hain Ke
Kat Na Saki Jinse Ek Raat.

मेरी तो इक उम्र कट गयी
तेरे इंतज़ार में,
ऐसे भी हैं के
कट न सकी जिनसे एक रात।

***********
Ab Teri Mohabbat Par Mera Haq To Nahi Sanam,
Fir Bhi Aakhiri Saans Tak Tera Intezar Karenge.

अब तेरी मोहब्बत पर मेरा हक तो नहीं सनम,
फिर भी आखरी सांस तक तेरा इंतज़ार करेंगे।

***********

Aadatan Tumne Kar Diye Vaade,
Aadatan Humne Bhi Aitbar Kiya,
Teri Rahon Me Har Baar Ruk Kar,
Humne Apna Hi Intezar Kiya.

आदतन तुमने कर दिए वादे,
आदतन हमने भी ऐतबार किया,
तेरी राहों में हर बार रुक कर,
हमने अपना ही इंतज़ार किया।

***********

Wo Taaro Ki Tarah Raat Bhar Chamkte Rahe,
Hum Chand Se Tanha Safar Karte Rahe,
Wo To Beete Waqt The Unhein Aana Na Tha,
Hum Yun Hi Saari Raat Karbat Badalte Rahe.

वो तारों की तरह रात भर चमकते रहे,
हम चाँद से तन्हा सफ़र करते रहे,
वो तो बीते वक़्त थे उन्हें आना न था,
हम यूँ हीं सारी रात करवट बदलते रहे।

***********

Wo Na Aayega Hume Malum Tha Iss Shaam Bhi,
Intezar Uska Magar Kuchh Soch Kar Karte Rahe.

वो न आएगा हमे मालूम था इस शाम भी,
इंतज़ार उसका मगर कुछ सोच कर करते रहे।

***********

Palkon Par Ruka Hai Samandar Khumaar Ka,
Kitna Ajab Nasha Hai Tere Intezar Ka.

पलकों पर रुका है समंदर खुमार का,
कितना अजब नशा है तेरे इंतज़ार का।

***********

Ab Mat Intezar Karwao Humein Itna,
Ke Waqt Ke Faisle Pe Afsos Ho Jaye,
Kya Pata Kal Jab Laut Ke Aao Tum,
Aur Hum Sada Ke Liye Khamosh Ho Jaye.

अब मत इंतजार करवाओ हमें इतना,
के वक्त के फैसले पे अफ़सोस हो जायें,
क्या पता कल जब लौट के आओ तुम,
और हम सदा के लिए खामोश हो जायें

***********

Kin Lafzo Me Likhun Main Apne Intezar Ko Tumhein,
Bejubaan Hai Ishq Mera Dhundhta Hai Khamoshi Se Tujhe.

किन लफ्जों में लिखूं मैं अपने इंतज़ार को तुम्हें,
बेजुबान है इश्क मेरा ढूढता है खामोशी से तुझे।

***********

Kab Thhehrega Dard Ai Dil Kab Raat Basar Hogi,
Sunte The Ke Wo Aayenge Sunte The Sahar Hogi.

कब ठेहरेगा दर्द ऐ दिल कब रात बसर होगी,
सुनते थे के वो आयेंगे सुनते थे सहर होगी।

***********

Mujhko Ab Tujh Se Mohabbat Nahi Rahi,
Ai Zindagi Teri Bhi Mujhe Jarurat Nahi Rahi,
Bujh Gaye Ab Uske Wo Intezar Ke Diye,
Kahin Aas Paas Bhi Uski Aahat Nahi Rahi.

मुझको अब तुझ से मोहब्बत नहीं रही,
ऐ ज़िन्दगी तेरी भी अब मुझे जरुरत नहीं रही,
बुझ गए अब उसके वो इंतज़ार के दिए,
कहीं आस पास भी उसकी आहट नहीं रही।

***********

Din Bhar Bhatakte Rehte Hain Armaan Tujhse Milne Ke,
Na Yeh Din Theharta Hai Na Tera Intezar Rukta Hai.

दिन भर भटकते रहते हैं अरमान तुझ से मिलने को,
न ये दिन ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है।

***********

Ye Na Thi Humari Kismat Ke Visaal-e-Yaar Hota,
Agar Aur Jeete Rahte Yahi Intezar Hota.

ये न थी हमारी किस्मत के विसाल-ए-यार,
अगर और जीते रहते यही इंतज़ार होता।

***********

Intezar Shayari – Koyi Shaam Aati Hai
Koyi Shaam Aati Hai Aapki Yaad Lekar,
Koyi Shaam Jati Hai Aapki Yaad Lekar,
Humein To Intezar Hai Uss Shaam Ka,
Jo Aaye Kabhi Aapko Apne Saath Lekar.

कोई शाम आती है आपकी याद लेकर,
कोई शाम जाती है आपकी याद लेकर,
हमें तो इंतज़ार है उस शाम का,
जो आये कभी आपको अपने साथ लेकर।

 

 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read previous post:
Friendship Attitude Status In Hindi 2019

Friendship is the most loyal and valuable relationship between two or more persons. Friends are the blessings in our lives....

Close